उष्ट्रासन - सरल तरीका द्वारा योग करना ( उष्ट्रासन )

 सरल तरीका द्वारा योग करना 

( उष्ट्रासन )

योग के माध्यम से हम जीवन के विभिन्न आयामों के ऊर्जा स्तर से जुड़ जाते हैं और हमारे शरीर में एक सकारात्मक ऊर्जा का विकास होने लगता है जो मानव जीवन कल्याण के लिए बहुत ही कल्याणकारी है ।
इस आसन में उष्ट्र अर्थात ऊंट जैसी आकृति बनने के कारण इसे उष्ट्रासन कहते हैं ।

उष्ट्रासन करने के तरीके -

उष्ट्रासन करने के लिए सर्वप्रथम आप जमीन पर चटाई बिछाए  चित्र के अनुसार आसन को दोहराएं ।
सबसे पहले वज्रासन में घुटनों के बल खड़े हो जाते हैं फिर श्वास अंदर लेते हुए सिर और गर्दन को पीछे की ओर झुकाते हुए कमर को ऊपर उठाते हैं साथ ही साथ एक-एक करके अपने दोनों हाथों को एड़ियों पर रखते हैं श्वास छोड़ते हुए एड़ियों पर बैठ जाते हैं । इस प्रकार यह प्रक्रिया तीन से चार बार दोहराएं ।

उष्ट्रासन चित्र 1


उष्ट्रासन करने के लाभ - 

यह आसन स्वसन तंत्र के लिए बहुत ही लाभकारी है यह फेफड़ों  को स्वस्थ एवं मजबूत बनाता है ।

Previous Post Next Post