प्रदूषण को रोकने के विभिन्न तरीके तथा प्रदूषण से होने वाले नुकसान जो जीवन के लिए बहुत अत्यधिक नुकसानदायक है यह जानते हैं कैसे....?

 प्रदूषण को रोकने के विभिन्न तरीके तथा प्रदूषण से होने वाले  नुकसान

Oknews

Oknews

वातावरण को किसी न किसी तरह प्रभावित करने वाले कारकों को प्रदूषण कहते हैं प्रदूषण की वजह से जीवन संकट में पड़ सकता है यह अलग बात है कि हम प्रदूषण के दुष्प्रभावों से अवगत नहीं हैं हमारे द्वारा फैलाया गया प्रदूषण एक लंबे समय बाद हमें ही नुकसान पहुंचाता है प्रदूषण के विभिन्न प्रकार होते हैं जिनमें से मुख्यता चार प्रकार के होते हैं ! 

  •  जल प्रदूषण 
  •  वायु प्रदूषण 
  •  मृदा प्रदूषण 
  •  ध्वनि प्रदूषण

 वायु और जल का निरंतर प्रदूषण होने से जीवन धीरे-धीरे धरती से मिट जाएगा इसलिए हम इंसानों का सबसे पहला कर्तव्य इस प्रकृति की सुंदरता को बनाए रखना है क्योंकि इंसानों के पास ही बुद्धि है जो सही और गलत सोच सकता है फिर भी हम जानवरों से ज्यादा इस प्रकृति को नुकसान पहुंचाते हैं

Oknews

हम अपने दैनिक कार्यों में आगे बढ़ने की चाह में प्रकृति के ऊपर ध्यान नहीं देते हम यह सोचते हैं कि यह काम सरकार का है या फिर हम अकेले क्या कर पाएंगे लेकिन यदि आप इस प्रकृति की इज्जत करेंगे तो यह आपको जीवन जीने के लिए वातावरण बनाए रखेगी इसीलिए हम आइए प्रतिज्ञा करते हैं कि हम जितना हो सकेगा प्रदूषण को नही फिलाए 

Oknews

 सबसे पहले तो यदि आप ट्रेन के द्वारा सफर कर रहे हैं तो ट्रेन में बैठे यात्री खाने पीने की प्लास्टिक बोतल ट्रेन के खिड़की से बाहर फेंक देते हैं जो बिल्कुल गलत है आप ट्रेन में डस्टबिन में डाल सकते हैं या फिर ट्रेन के स्टेशन पर डस्टबिन में डाल सकते हैं अन्यथा ट्रेन में ही फेंक दे कचरा क्योंकि ट्रेन की सफाई होती रहती है लेकिन यदि ट्रेन चल रहे हो तो ट्रेन के बाहर कचरा फेंकने से वह खेतों और पेड़ पौधों को नुकसान पहुंचाता है और ऐसा सिर्फ ट्रेनों में नहीं हर वह पब्लिक ट्रांसपोर्ट में कचरा हमेशा डस्टबिन में ही डालें 

 थोड़ा मुश्किल जरूर है लेकिन आप जहां कचरा फेंक रहे हैं वहां पर यह भी ध्यान दें कि उस कचरे से कोई बीमारी ना फैले और उस कचरे को कोई साथ जरूर करता हो क्योंकि कहीं-कहीं डस्टबिन नहीं होती है वहां अपने बुद्धि का इस्तेमाल अवश्य करें

 आप लोगों की यही अच्छी सोच एक नए भारत का निर्माण करेगी देश को प्रदूषण मुक्त बनाएं और अपनी पीढ़ी को एक नए जीवन प्रदान करें आपकी आने वाली पीढ़ी पैसा तो कमा ही लेगी जीने के लिए लेकिन दूषित वातावरण से मिले बीमारियां उनके पैसों और उनके जीवन दोनों को नष्ट कर देगी

 ध्वनि प्रदूषण को हम विभिन्न रूपों में देख सकते हैं अत्यधिक शोर-शराबे वाले इलाकों से ध्वनि प्रदूषण होता है और वायु में उपस्थित फ्रीक्वेंसी जिन्हें हम सिग्नल कहते हैं यह भी ध्वनि प्रदूषण करती हैं और इन सिगनल की वजह से पक्षियों को बहुत अत्यधिक नुकसान होता है जिससे वह दिमागी रूप से पीड़ित हो जाते हैं

 पौधों के अत्यधिक कटाव के कारण वायु के साथ-साथ मृदा का भी बहुत बड़े पैमाने पर नुकसान हो रहा है क्योंकि हम जो ऑक्सीजन ग्रहण करते हैं वह हमें पेड़ों से ही मिलती है और अगर हम ऐसे ही पेड़ काटते रहे तो 1 दिन ऑक्सीजन ही नहीं रहेगा और जीवन जीने के लिए शुद्ध हवा भी नहीं रहेगी
Oknews

 मैं जल्द ही प्रदूषण को रोकने के और भी कुछ नई तरकीब आपके सामने रख लूंगा जिन्हें आप आसानी से दैनिक कार्यों के साथ प्रदूषण मुक्त भारत मे अपना सहयोग दे सकते हैं !

Previous Post Next Post