Skip to main content

Share market : what is share market , शेयर मार्केट क्या होता है ।

 What is share market..? and what is NSE, BSE.?

दोस्तों शेयर मार्केट एक ऐसा मार्केट है जहां पर पब्लिक के द्वारा फाइनेंस इकट्ठा किया जाता है दूसरे शब्दों में कहे तो बड़ी-बड़ी कंपनियां या किसी भी कंपनी को जब फाइनेंस की आवश्यकता होती है तो वह शेयर मार्केट में लिस्टेड होती हैं और वहां पर लिस्टेड होने के बाद पब्लिक उन कंपनियों के शेयर खरीद कर उसमें कुछ परसेंट के हिस्सेदार बन जाते हैं और कंपनी पब्लिक की उस राशि को अपने कार्य में लगाती है तथा कंपनी का प्रॉफिट होने पर कंपनी के शेयर ऊपर की तरफ बढ़ते हैं इस तरह शेयर खरीदे हुए व्यक्ति को भी लाभ प्राप्त होता है और व्यक्ति चाहे तो वह शेयर बेचकर अपने पैसे वापस भी प्राप्त कर सकता है ।

शेयर मार्केट में कंपनियां दो तरह के शेयर एक्सचेंज का प्रयोग करती हैं NSE और BSE

NSE :  NSE का पूरा नाम National stock exchange है BSE : BSE का पूरा नाम Bombay stock exchange है इन दोनों स्टॉक एक्सचेंज की मदद से आप कंपनी के शेयर को खरीद सकते हैं और खरीदे हुए शेयर को बेच सकते हैं ।


अगर आप शेयर मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करना चाहते हैं तथा किसी कंपनी के शेयर में ट्रेडिंग करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको किसी ब्रोकर के अंतर्गत डीमेट अकाउंट ओपन करना पड़ेगा डिमैट अकाउंट का मतलब वह यह है कि शेयर को खरीदने अथवा बेचने के लिए डीमेट अकाउंट के द्वारा ही ट्रांजैक्शन किया जाता है और बाद में आप डीमेट अकाउंट का पैसा आप अपने पर्सनल बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हैं ठीक इसी प्रकार आप को शेयर अगर लेना हो तो आप अपने पर्सनल बैंक से डिमैट अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करके फिर डीमेट अकाउंट से शेयर को खरीद या बेच सकते हैं ।

बहुत सारे ऐसे भारत में ब्रोकर हैं जो डिमैट अकाउंट ओपन कर आते हैं जिनमें से एक है India infoline finance limited.

IIFL , अगर आप आई आई एफ एल में डिमैट अकाउंट ओपन कराना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें ।

Open IIFL Demat Account 

IIFL Securities is offering Free Demat Account with multiple benefits. 

Since I referred you, you get these special advantages   

- Free Delivery Trade 

- Rs 20/order for Intraday & FNO 

- Zero Account Opening 

- Free 1st Year AMC 

- Free Research report with Excellent Strike Rate Hurry! 

Join me on IIFL Securities.

Click to open your account

डीमेट अकाउंट किसी भी ब्रोकर के पास खोलने से पहले है ध्यान दें कि वह ब्लॉक कर सेबी द्वारा रजिस्टर्ड है या नहीं और उस ब्रोकर का पिछले चार-पांच वर्षों से किस तरह काम कर रहा है ।



Comments

Popular Posts

Make your 20s healthy with these eating habits | कुछ आदतें ऐसी जो बनाए आपको तंदुरुस्त

Make your 20s healthy with these eating habits | कुछ आदतें ऐसी जो बनाए आपको तंदुरुस्त  क्या आपने कभी सुना है 'कड़ी मेहनत करो और बाद में लाभ उठाओ'?  वही व्यक्ति के उपभोग के लिए जाता है।  अभी सोच-समझकर सेवन करें और बड़े होने पर लाभ उठाएं।  हमारे पूरे जीवन में स्वस्थ भोजन करना आवश्यक है, खासकर जब आप 20 वर्ष के हों।  ऐसा माना जाता है कि हमारा 20 का समय वह समय होता है जब हम ऐसी आदतें बनाते हैं जो हमेशा हमारे साथ रहती हैं। Oknews  हाल के वर्षों में विकासशील विकल्पों के कारण युवा पीढ़ी की जीवन शैली बहुत अधिक प्रभावित हुई है।  बहुत से लोग जो समान आयु वर्ग में आते हैं, वे परिरक्षक, पैक्ड, कैलोरी से भरपूर भोजन की ओर रुख कर चुके हैं और एक गतिहीन जीवन शैली का चयन करते हैं।  20 के दशक में, मनुष्य अभी भी अपने स्वास्थ्य और अस्वास्थ्यकर खपत को आकार दे रहा है और विकसित कर रहा है जो जीवन के लिए खतरनाक बीमारी के जोखिम को आमंत्रित करता है।  जबकि दूसरी ओर, व्यस्त कार्यक्रम, पारिवारिक और वित्तीय तनाव और रोमांटिक चुनौतियों के कारण 20 वर्ष की आयु के लोगों के लिए अपनी भलाई का प्रबंधन करना और सही खपत पर

Oknews - Health | बालों के झड़ने को रोकने के लिए निम्न उपाय तथा बालों को मजबूत करने के कुछ घरेलू उपाय

  बालों के झड़ने को रोकने के लिए निम्न उपाय तथा बालों के झड़ने के कारण या कुछ गलतियां जिनकी वजह से बाल झड़ते हैं आजकल की रोजमर्रा के लाइफस्टाइल में बहुत सारे बदलाव ऐसे हुए जिनसे हमारी शारीरिक विकास तथा जरूरी पोषक तत्व जो हमारे शरीर के लिए अत्यंत आवश्यक है उनसे हम काफी दूर हो चुके हैं बालों का झड़ना निम्न प्रकार से रोका जा सकता है तथा कुछ लक्षण हैं जिनकी वजह से बाल झड़ते हैं आइए जानते हैं बालों के झड़ने के कारण लीवर का कमजोर होना दातों तथा हड्डियों में कमजोरी आना पाचन तंत्र ठीक तरीके से काम ना करना शरीर के हर वह इंटरनल ऑर्गन जो भोजन को सुचारू रूप से पचाने का कार्य करते हैं उनका सही तरह से कार्य न करना यह उन्हें सही पोषक तत्व ना मिल पाना यह सभी कारण शरीर में फाइबर की कमी तथा एंटीऑक्सीडेंट की कमी की वजह से होने लगती है और फिर यह कमियां हमारे शरीर के कोलेजन द्वारा पूर्ति की जाती है और शरीर में कोलेजन की कमी हो जाती है जिसकी वजह से हमारे शरीर के हर एक अंग पर इसका असर दिखने लगता है । अक्सर यह ज्यादा प्रॉब्लम महिलाओं के अंदर आता है क्योंकि महिलाओं के अंदर पानी की कमी तथा हिमोग्लोबिन की कमी ज्