Sunday, 24 October 2021

योग क्या है, योग के माध्यम से अपने सभी चक्रों को  जागृत करने के तरीके

योग क्या है, योग के माध्यम से अपने सभी चक्रों को जागृत करने के तरीके

योग के माध्यम से अपने सभी चक्रों को  जागृत करने के तरीके


योग व माध्यम है जिससे हम स्वयं से अवगत होते हैं तथा स्वयं की सारी शक्तियों का अनुभव तथा प्रयोजन सीखते हैं योग से मानव जीवन की सभी सीमित असीमित उपलब्धियों का ज्ञान होता है !

अध्यात्म जीवन बहुत ही सुंदर और शांतिपूर्ण जीवन होता है मनुष्य के शरीर में बहुत सारे ऐसे दिव्य शक्तियां हैं जिनका उसे एहसास भी नहीं है आज आपके शरीर में इन सभी शक्तियों के भागों का अध्ययन करेंगे
मनुष्य के शरीर में अलग-अलग ऊर्जा स्तर के आधार पर चक्र के रूप में ऊर्जा को दर्शाया गया है इंसान के शरीर में सात ऊर्जा चक्र होते हैं जिनमें से पहला है

मूलाधार चक्र :   मूलाधार चक्र क्या मनुष्य के मल द्वार और लिंग के बीचो बीच चार पत्ती वाला एक चक्र होता है इसे आधार चक्र के नाम से भी जाना जाता है और 99% लोगों की चेतना इसी आधार चक्र में रहकर अपना पूरा जीवन व्यतीत कर लेती है और वह इस चक्र में ही रह कर अपना जीवन यापन कर लेते हैं 


दूसरे शब्दों में कहें तो जो लोगों के जीवन में भूख संभोग और नींद को अधिक महत्वपूर्ण मानते हैं या अधिकतर इन के ही अधीन रहते हैं उनकी शरीर की सारी ऊर्जा इसी चक्र पर एकत्रित रहती है  और वह हमेशा तनाव तथा अपूर्णता में ही रह जाते हैं अगर मनुष्य का मूलाधार चक्र जागृत हो जाए तो मनुष्य इन सभी भोग संभोग और निद्रा से मुक्त होकर एक आनंदमय जीवन व्यतीत करेगा आधार चक्र जागृत होने के बाद मनुष्य खुश रहता है तथा उसकी दिमागी क्षमता मजबूत होती है वीरता का अनुभव होता है और भी बहुत सारे बदलाव होते हैं 

मूलाधार चक्र को जागृत करने के लिए योग की अवस्था में बैठकर आपको इस मूलाधार चक्र पर ध्यान लगाना होगा आपका ध्यान जितना स्थिर होगा उतना ही आप इस चक्र को जागृत कर सकेंगे और इस चक्र को जागृत करने के लिए एक मंत्र का प्रयोग भी आप कर सकते हैं जो मंत्र है लं इस शब्द का ध्यान अपने मन के अंदर करें और अपने मूलाधार चक्र पर ध्यान केंद्रित करें आपका ध्यान जितना गहरा होगा आप चक्र को आसानी से जागृत कर सकेंगे और और इस चक्र के जाग्रत होने पर वीरता आनंद और मन में स्थिरता आती है जो सिद्धि प्राप्त करने के लिए अत्यंत आवश्यक है 

स्वाधिष्ठान चक्र :  स्वाधिष्ठान चक्र आधार चक्र के ऊपर स्थित होता है इसमें 6 पंक्तियां होती हैं इसका मंत्र है वं हमारे जीवन में मनोरंजन बहुत जरूरी होता है लेकिन मनोरंजन की आदत नहीं होती जो बिल्कुल सही है और यह मनोरंजन ही तो है जो मनुष्य की चेतना को बेहोशी की तरफ धकेलता है  उदाहरण के लिए अगर आप कोई नाटक अथवा फिल्मों को देखते हैं तो आप थोड़े समय के लिए उस कैरेक्टर में खो जाते हैं और यह जानते हुए भी कि यह एक नाटक है उन सभी कैरेक्टर को निभा रहे इमोशंस को आप अपने से जोड़कर महसूस करते हैं


 और आपको वह सारे इमोशंस असली में महसूस होता है 
स्वाधिष्ठान चक्र के जागृत हो जाने के बाद आपके अंदर की क्रूरता घमंड आलस अवज्ञा अविश्वास इन सभी दुर्गुणों का नाश होता है और आप सही और गलत को समझने की काबिलियत आ जाती है आपके जीवन में क्या सही है और क्या सही होना चाहिए वह सही चीजें आपको महसूस होने शुरू हो जाएंगे


 आप योग अवस्था में बैठकर वं मंत्र का ध्यान करते हुए अपने स्वाधिष्ठान चक्र पर ध्यान लगाएं इस तरह आप स्वाधिष्ठान चक्र को जागृत कर पाएंगे ! 

मणिपुर चक्र : यह इंसान की नाभि के मूल में स्थित है जो कि 10 कमल पंखुड़ियों द्वारा युक्त होता है इसका मंत्र है रं इस चक्र के जागृत होने पर आपके अंदर आत्मविश्वास तथा सकारात्मक ऊर का विस्तार बढ़ जाता है और आपके किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए नए रास्ते तथा एक सकारात्मक सोच आती है 


मणिपुर चक्र आपको सफलता तक पहुंचाने वाला चक्र है ।
इस चक्र की सबसे विशेष बात यह है कि यह आपके किसी भी लक्ष्य को हासिल करने के लिए एक पोटेंशियल प्रदान करता है और एक आत्मविश्वास को जन्म देता है जिससे आप अपने लक्ष्य पर अकेले ही चल सकते हैं और उस लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं 


इस चक्र को जागृत करने के लिए योगा अवस्था में बैठकर रं  मंत्र का ध्यान करें और अपने मणिपुर चक्र पर ध्यान केंद्रित करें !

अनाहत चक्र :  यह चक्र आपके दिल और नाभि के बीच होता है इसका मंत्र  यं  होता है  अनाहत चक्र में 12 पंखुड़ियां होती हैं इस चक्र के जाग्रत होने पर आपके चारों तरफ के एनवायरमेंट में आपकी सकारात्मक ऊर्जा फैल जाती है और आप एक सकारात्मक एनवायरमेंट में रहते हो आप किसी भी व्यक्ति के पास जाने पर उस व्यक्ति पर आप का असर पड़ जाता है और वह आपसे काफी अट्रैक्ट भी हो जाता है

आप आम लोगों की अपेक्षा से अधिक सोचने लगेंगे आपका दिमागी स्तर आम लोगों की तुलना में काफी बढ़ जाएगा हो सकता है लोग आपको पागल भी कहने लगे लेकिन आपकी सोच क्षमता काफी प्रबल हो जाएगी तथा आपके अंदर से हिंसा चिंता मोह अंधकार और अहंकार सब कुछ समाप्त हो जाएगा और आप सकारात्मक सोच के साथ जीवन में काफी दूर तक के फैसले सही रूप से ले सकेंगे यहां से आप महापुरुषों की श्रेणी मे आने लगोगे अनाहत चक्र को जागृत करने के लिए ध्यान की अवस्था यं मंत्र का ध्यान करना है 

विशुद्धि चक्र :  यह आपके कंठ यानी गले में स्थित होता है जो कि 16 पंखुड़ियों वाला है इस चक्र का मंत्र है हं इस चक्र के जागृत हो जाने से आपके शब्दों में ठहराव तथा स्थिरता और मधुरता आ जाती है 


और आपके कहे हुए शब्दों पर यह प्रकृति भी प्रतिक्रिया देने लगती है ऐसा लगता है मानो यह प्रकृति आपके कहे हुए शब्दों का सम्मान करने लगी हो इस चक्र के जागृत होने पर आप अपनी भूख प्यास पर नियंत्रण रख सकते हैं तथा बाहरी नकारात्मक ऊर्जा जो आपकी तरफ आ रही हो उसको रोकने की क्षमता उत्पन्न हो जाती है तथा मौसम के प्रभाव की वजह से जो बीमारियां होती हैं बीमारियों से भी आप आसानी से बच सकते हैं और किसी भी एनवायरमेंट में रहने की क्षमता उत्पन्न जाती है इस चक्र को जागृत करने के लिए योग की अवस्था में बैठकर हं मंत्र का ध्यान करें 

आज्ञा चक्र : आज्ञा चक्र को हम तीसरी आंख third eye के नाम से जानते है जोकि दोनों आंखों के मध्य थोड़ा ऊपर की तरफ होता है इस चक्र का मंत्र होता है 


 आपके आज्ञा चक्र पर अपार शक्तियां तथा सिद्धियां निवास करती हैं इस चक्र के जागने के बाद आपके अंदर की सभी शक्तियां जागृत हो जाती हैं और आप एक सिद्ध पुरुष बन जाते हैं आप वह चीजें भी देख सकते हैं जो कोई नहीं देख सकता आप समय के हराया में जाकर आने वाली घटना तथा आने वाली संभावनाओं को देख सकते हैं और आप वह सभी चीजें पहले ही महसूस कर लेंगे जो चीजें होने वाली है 


आज्ञा चक्र जागृत हो जाने के बाद आप प्रकृति की उर्जा से जुड़ जाते हैं और फिर आप अंदाजा लगा सकते हैं कि आपकी ऊर्जा कितनी ज्यादा बढ़ गई प्रकृति की उर्जा आपके जुड़ने के बाद आपके अंदर अद्भुत शक्तियों का एहसास होगा और आपके लिए कोई भी चीज असंभव नहीं लगेगा 
शास्त्रहार चक्र :  दिमाग के मध्य भाग में यानि जहां आपकी चोटी का स्थान होता है वहां स्थित होता है इस चक्र का मंत्र वही है जो आज्ञा चक्र का है  



अगर कोई ध्यान करते हुए शास्त्रहार चक्र तक पहुंच गया तो उस व्यक्ति को सांसारिक किसी भी वस्तु से कोई  भी मोह नहीं रह जाता वह स्वयं एक ऊर्जा बन जाती है जो हमेशा दूसरों के काम आती है

इस चक्र के जाग्रत होने के बाद यह सभी चक्रों की ऊर्जा से मिल जाता है और सभी चक्र एक ऊर्जा में समाहित होकर मनुष्य को दूसरे आयाम में पहुंचा देते हैं जहां वह अत्यंत शक्तिशाली तथा एक सिद्ध पुरुष बन जाता है इन सभी चक्रों का जागरण करने वाला ही सिद्ध पुरुष कहलाता है और उसके लिए कोई भी कार्य या किसी भी लक्ष्य तक पहुंचना आसान हो जाता है और ऐसे पुरुष भगवान बुद्ध की श्रेणी में आ जाते हैं


जब यह सभी चक्र मनुष्य के जागृत हो जाते हैं तो वह शक्तिशाली मनुष्यों की श्रेणी में आ जाता है प्राचीन काल में ऐसे बहुत से योद्धा और महर्षि हुए हैं जिन्होंने योग के माध्यम से बहुत ही जटिल से जटिल काम में किए तथा मानव जीवन को एक सही मार्ग दिखलाएं 

मानव शरीर के लिए बहुत सारी विचित्र बातें हैं और भी बहुत सारी आध्यात्मिक विज्ञान में रहस्य है मानव शरीर के लिए उनका विवरण प्रदान करेंगे धन्यवाद




Saturday, 23 October 2021

बालों के झड़ने को रोकने के लिए निम्न उपाय तथा बालों को मजबूत करने के कुछ घरेलू उपाय

बालों के झड़ने को रोकने के लिए निम्न उपाय तथा बालों को मजबूत करने के कुछ घरेलू उपाय

 बालों के झड़ने को रोकने के लिए निम्न उपाय तथा बालों के झड़ने के कारण या कुछ गलतियां जिनकी वजह से बाल झड़ते हैं



आजकल की रोजमर्रा के लाइफस्टाइल में बहुत सारे बदलाव ऐसे हुए जिनसे हमारी शारीरिक विकास तथा जरूरी पोषक तत्व जो हमारे शरीर के लिए अत्यंत आवश्यक है उनसे हम काफी दूर हो चुके हैं बालों का झड़ना निम्न प्रकार से रोका जा सकता है तथा कुछ लक्षण हैं जिनकी वजह से बाल झड़ते हैं आइए जानते हैं

बालों के झड़ने के कारण

  • लीवर का कमजोर होना
  • दातों तथा हड्डियों में कमजोरी आना
  • पाचन तंत्र ठीक तरीके से काम ना करना
  • शरीर के हर वह इंटरनल ऑर्गन जो भोजन को सुचारू रूप से पचाने का कार्य करते हैं उनका सही तरह से कार्य न करना यह उन्हें सही पोषक तत्व ना मिल पाना
  • यह सभी कारण शरीर में फाइबर की कमी तथा एंटीऑक्सीडेंट की कमी की वजह से होने लगती है और फिर यह कमियां हमारे शरीर के कोलेजन द्वारा पूर्ति की जाती है और शरीर में कोलेजन की कमी हो जाती है जिसकी वजह से हमारे शरीर के हर एक अंग पर इसका असर दिखने लगता है ।
  • अक्सर यह ज्यादा प्रॉब्लम महिलाओं के अंदर आता है क्योंकि महिलाओं के अंदर पानी की कमी तथा हिमोग्लोबिन की कमी ज्यादातर मामलों में देखी जाती है और पुरुषों में डोपामाइन केमिकल की कमी की वजह से उनके शारीरिक तथा उनकी बालों का धीरे-धीरे पतन होना शुरू हो जाता है 
  • महिलाओं तथा पुरुषों में अत्यधिक स्ट्रेस की वजह से बालों का झरना शुरू हो जाता है 
  • शरीर में आयरन की कमी से भी बाल झड़ते हैं और भी सूक्ष्म तत्व तथा micronutrients की कमी की वजह से बालों का झड़ना शुरू हो जाता है
  • पुरुषों में genetic तथा Testosterone के एक्शन की वजह से बालों का झड़ना हो सकता है
  • महिलाओं में बाल झड़ने का कारण होता है डाइट प्रॉपर ना लेना प्रेगनेंसी के बाद या डिलीवरी के बाद या जिस औरत के पीरियड्स खत्म अथवा बंद होने वाले हैं उनके अंदर हार्मोन चेंज होने की वजह से बाल झड़ सकते हैं
  • लंबे समय तक पेट खराब रहना तथा कब्ज की शिकायत होने से या गले में दर्द होना या किसी अन्य दवाइयों का सेवन करने से भी बालों का झड़ना हो सकता है !


बालों का झड़ना रोकने के लिए कुछ प्राकृतिक आयुर्वेदिक तरीके

  • बालों का झड़ना अगर कुछ आसान से शब्दों में कहे तो आपके तनाव तथा छोटे-मोटे कमियों की वजह से झड़ रहे हो तो उनका इलाज प्राकृतिक तरीके से किया जा सकता है अगर कोई बड़ी हार्मोन समस्या की वजह से आप जूझ रहे हो तो आप अपने डॉक्टर से अवश्य संपर्क करें ।

  • लौकी के जूस में आंवला मिलाकर पीने से बालों के झड़ने से मदद मिलती है
  • अपने पूरे दिनचर्या में आंवले को शामिल करें किसी न किसी रूप में आंवले का जूस आंवले का मुरब्बा आंवले का अचार या किसी अन्य तरीके से क्योंकि आंवले में हर वह एंजाइम होते हैं जो बालों के लिए बहुत ही जरूरी होते हैं
  • अपने पाचन तंत्र को मजबूत रखें तथा हेल्थी भोजन करें
  • बालों को पोलूशन तथा केमिकल युक्त प्रोडक्ट से बचा कर रखें 
  • तनाव मुक्त रहें तथा रोजाना एक्सरसाइज करें या योगा करें ।
  • पानी में अत्यधिक कैल्शियम तथा अम्लीय गंधक होने की वजह से जब स्नान करते हैं तो वह पानी हमारे बालों के लिए काफी नुकसानदायक होता है इसलिए यदि आप ऐसी जगह है जहां पानी ही सही ना हो वहां आप फिल्टर पानी से अपने बालों को धो सकते हैं ।
बालों को मजबूत तथा बालों को झड़ने से रोकने के लिए एक देसी नुस्खा है जिन्हें आप आजमा सकते हैं 1 लीटर नारियल के तेल में आधा किलो आंवले को काटकर डाल दें !


 तथा उसे अच्छे से पका लें फिर उस तेल का इस्तेमाल अपने बालों पर रोजाना करें इससे आपके बालों के स्किन में किसी भी प्रकार के इंफेक्शन को खत्म करने की क्षमता उत्पन्न होगी और आपके बाल घने तथा मजबूत बनेंगे ! 

अअत्यधिक तनाव जो आजकल की युवा पीढ़ी ज्यादा ले रही है जिसकी वजह से समय से पहले इनके बाल सफेद तथा बालों का झड़ना शुरू हो जाता है तनाव मुक्त जीवन बनाए रखें और मेहनत करें अपने जीवन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए स्वस्थ रहें मस्त रहें आशा करते हैं ऊपर दी गई जानकारियां आपको काफी हद तक लाभ प्राप्त होंगे धनयवद !

Friday, 22 October 2021

करवा चौथ , भारतीय सभ्यता में एक ऐसा त्यौहार जहां स्त्री अपने पति की दीर्घायु के लिए करती है व्रत तथा पूजा

करवा चौथ , भारतीय सभ्यता में एक ऐसा त्यौहार जहां स्त्री अपने पति की दीर्घायु के लिए करती है व्रत तथा पूजा

करवा चौथ 

आज का हमारा बिषय करवा चौथ है। कयोकि हमारे देश में कई तयोहार आते हैं। जो इस अकतूबर और नवम्बर के महीने में ही मनाये जाते हैं। इन में से करवा चौथ भी एक खास तयोहार है। यह तौहार औरतों का तयोहार होता है। वेसे तो औरतों के लिए सारे व्रत बहुत ही खास हौते हैं। लेकिन यह तौहार औरतों के लिए कुछ ज्यादा ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 
  इस  व्रतको कोई भी ऊम्र की औरतों रख सकती हैं।  इस व्रत को कुवांरी लड़की भी रख सकती हैं।  यह व्रत सुहागन औरतों के लिए होता है।  वह अपने पति की लम्बी उम्र के लिए यह व्रत रखती है।  यह व्रत ओरतो के सुहाग का  प्रतीक है। किसी भी लड़की की शादी के बाद कोई भी तयोहार बहुत महत्वपूर्ण होता है।  करवा चौथ का व्रत भी पति के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 



 यह व्रत  क्रांतिक  मास की चौथ की तिथि को मनाया जाता है।  शादी के बाद सभी नव विवाहित औरतों को यह व्रत आपने मायके में मनाया जाता है।  यह  व्रत वह अपने पति की लम्बी उम्र के लिए रहती हैं।



 औरतें  इस दिन  सुबह जल्दी उठ कर अपने पति के लिए  खाली पेट यह व्रत रखती हैं।  सभी औरतों को इस दिन कुछ भी नहीं खाना होता।  इस दिन सभी औरतों अपने घरों में किसी भी तिखी चिज    से कोई काम नहीं करती  जैसे कैंची,,  सुई  आदि इसे अशुभ माना जाता है।  इस व्रत के दिन सासु अपनी बहु  को उपहार के रूप में सरगी देती है।  बहु  इस  सरगी के समान से ही अपना व्रत रखती है।  यह व्रत बडों का आशीर्वाद लेकर रखना चाहिए।  इस से हमारे ससुराल में सम्रधी बनी रहती है।  इस दिन सभी औरतों लाल 🔴 रंग के कपड़े पहनकर यह व्रत रखती हैं। कयोकि लाल रंग सुहाग का प्रतीक होता है।  



इस दिन औरतों को दुपहर के समय चौथ माता की कथा करती हैं।  सभी औरतों मिल कर चौथ माता की पुजा करती हैं।  फिर शाम को चंदा को जल अप्रन करने के बाद अपने पति के हाथ से पानी पी कर अपन व्रत खोलती हैं।  इस  तरह वह अपने करवा चौथ के व्रत को पुरा करती हैं।



Wednesday, 20 October 2021

Coronavirus, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बरकरार रखने के कुछ दैनिक कार्य तथा तनाव मुक्त जीवन पाने के कुछ उपाय

Coronavirus, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बरकरार रखने के कुछ दैनिक कार्य तथा तनाव मुक्त जीवन पाने के कुछ उपाय

Coronavirus 

 सन 2020 में इस कोरोना virus ने बहुत तबाही मचा कर रख दी है। अपने भारत देश के साथ साथ और भी कई देशों में इस virus ने लोगों को अपने चपेट में ले रखा है। यह virus चीन देश से बाकी सभी देशों में फैला चुका है। यह virus चीन, जापान, भारत अमेरिका पाकिस्तान, रूस आदि और कई देशों में फैले चुका है। यह एक ऐसा virus हे जिस की अभी तक कोई दवाई नहीं बन पाई । यह virus बहुत तेजी से फेलता है। सभी देशों के डाक्टर इस virus की दवाई बनाने में असमर्थ है। यह virus इतनी तेजी से फेलता है जैसे हवा में आग की तरह।




 इस virus के लक्षण। इस वायरल चीन देश से भारत में आया। इस virus से पहले गले में दर्द होता है। इस से खासी होती है। बुखार होता है।, छींके लगती हैं। जुखाम होता है। यह virus होने के बाद हमारे गले में चार दिन तकलीफ होती है। फिर यह फेफड़ों में जाकर सांस तक लेने में कठिनाई आती है। फिर इस के बाद इनसान की म्रत्यु हो जाती है। अब आप को अंदाजा लग चुका होगा कि यह virus कितना खतरनाक है। और कितनी तेजी से फैलता है। लेकिन हमारे दभारत देश में इस खतरनाक बीमारी से बचने के लिए भी कई उपयोग गुंडे जा चुके हैं। कयोकि हमारा देश आयुर्वेद से भरा हुआ है।
 हमारे देश में इस virus को रोकने के लिए कई तरह के उपचार ठुंठे है। जिस में से काडा़ एक ऐसी दबा है जिस को पिने से हम इस virus से बच सकते हैं। कोरोना virus के संक्रमण से बचने के लिए एक और अपने शरीर की ईमियूनिटी बड़ाने के लिए हम लोगो को अपने घर पर ही कई उपचार कर सकते है। जैसे सबसे पहले बिटामिन डी, लेकर अपने शरीर की इमयूनिटी बड़ा सकते हैं। यह बिटामिन डी हमे धूप और मछली से मिलता है। बिटामिन सी भी ले सकते हैं। यह हमें आंवला, पपीता से मिलता है। हमें हर रोज तुलसी, अदरक, हलदी , शहद, काली मिर्च, और सोफ को पानी में उबाल कर सेबन करने से हम करोना के संक्रमण से बच सकते हैं। हमें अपने हाथ✋ को अच्छी तरह से धोने चाहिए।


हर जीव की शारीरिक रोग प्रतिरोधक क्षमता उसके अंदर आने वाली सभी बीमारियों से लड़ती रहती है इसीलिए अगर आपके अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी है तो आप काफी हद तक इन वायरल तथा वायरस से लड़ सकते हैं
आप अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए रोजाना व्यायाम या एक्सरसाइज करें योगा करें तथा खान-पान में हमेशा फल फ्रूट और हरी सब्जियों का सेवन करें और तनाव से दूर रहें आजकल की रोजमर्रा की जिंदगी में लोग अपने आने वाले भविष्य को लेकर काफी चिंतित रहते हैं कुछ लोग अपनी वर्तमान जिंदगी से खुश ही नहीं रहते इस वजह से वह चिंतित होते हैं लेकिन इन सब चिंताओं का कोई मतलब नहीं बैठता अगर आप मेहनत नहीं करते हैं तो अपने सपनों के प्रति तो चिंता करना छोड़ कर खुश हाल जिंदगी बिताई और मेहनत करते रहें अपने सपनों के लिए एक ना एक दिन आपको सफलता अवश्य मिलेगी मेहनत का फल आपको अवश्य मिलेगा चिंता करने का फल आपको नहीं मिलेगा उल्टा आपका ही नुकसान होगा आप शारीरिक रूप से कमजोर होते चले जाएंगे और एक टाइम पर आप मानसिक रोगी भी हो सकते हैं आशा करते हैं उपरोक्त दी गई जानकारियां आपके लिए हित में होंगे और अपने सवालों को कमेंट माध्यम से पूछ सकते हैं धन्यवाद





Tuesday, 19 October 2021

चमकती व खूबसूरत तथा नेचुरल त्वचा पाने के कुछ बेहतरीन उपाय

चमकती व खूबसूरत तथा नेचुरल त्वचा पाने के कुछ बेहतरीन उपाय

चमकती व खूबसूरत तथा नेचुरल त्वचा पाने के लिए विभिन्न प्रकार के तरीके जो आप घर से ही कर सकते हैं आइए जानते हैं



सबसे पहले तो जिस प्रकार की आपकी त्वचा है वह आपकी नेचुरल स्किन होती है और उसको और भी केयर करके डेड सेल्स रिमूव करके attractive बनाया जा सकता है अब बात करते हैं कलर की कलर किसी भी तरीके का हो सकता है वह कलर आपको nature ने दिया है अतः आप हमेशा खुश रहें अपनी त्वचा के लिए जैसा भी आपका कलर हो उसी कलर में जिस कलर का आपकी त्वचा है अट्रैक्टिव बनाने के बहुत सारे तरीके होते हैं आइए जानते हैं
अपने स्क्रीन को सुंदर तथा अट्रैक्टिव बनाने के लिए दो तरह के कार्य होते हैं एक शरीर के अंदर से और एक बाहर के वातावरण से तब जाकर शरीर की त्वचा का रंग में प्रभाव होता है जिनमें से कुछ तरीके निम्न प्रकार हैं
खानपान के द्वारा
हमारी त्वचा को सही तरह के एंजाइम्स ना मिलने के कारण यह रूखी सूखी तथा डार्क होने लगते हैं और बहुत सारा के स्किन एलर्जी एंड प्रॉब्लम्स शुरू हो जाते हैं इसीलिए आप हमेशा हेल्दी खाना ही खाएं यह संभव नहीं है कि हमेशा हेल्थी khana सभी लोग खा सके इसलिए आप सुबह सुबह में कुछ ऐसा खाएं जो आपके लिए हेल्थी हो जैसे फल फ्रूट हरी सब्जियां विटामिन सी वाले जूस और भी बहुत सारी क्योंकि सुबह का खाया हुआ बहुत ही ज्यादा हमारी शरीर पर असर करता है इसीलिए सुबह सुबह आप किसी हेल्थी खाने को अपनी डाइट में शामिल करें इससे आपके अंदर से खूबसूरती निखरेगी और आपके शरीर मैं हमेशा इम्यूनिटी भी बनी रहेगी और आप एक हेल्थी लाइफ जी सकेंगे 
ज्यादा तला हुआ तथा ट्रांस फैट वाली डाइट ना लें क्योंकि आपके शरीर को इस तरह के फैट को बर्न करने के लिए बहुत अत्यधिक उर्जा लगती है बाद में यह ऊर्जा आपके शरीर के भोजन में ना मिलने के कारण आपके ब्लड से उर्जा बनना शुरू हो जाता है और आपका शारीरिक विकास थोड़ा कम हो जाता है इसीलिए कोशिश करें हेल्थी खाना ही खाएं
प्राकृतिक वस्तुओं द्वारा स्किन केयर


एक चम्मच हल्दी ,एक चम्मच शहद ,दो चम्मच ओट्स ,दो चम्मच दही, इन को आपस में मिलाकर एक पेस्ट बना लें और इन्हें अपने चेहरे पर अच्छे तरीके से सर्कुलर वे में अप्लाई करें और इसे सूखने के बाद ठंडे पानी से अपने चेहरे को धोएं इसे हफ्ते में दो बार करने से आपके स्क्रीन का रंग हल्का होगा
इस पेस्ट का इस्तेमाल किसी भी तरह के स्क्रीन वाले लोग कर सकते हैं यह बिल्कुल नेचुरल है और इस पेस्ट मे हर वह आवश्यक सामग्री है और एंजाइम्स है जो हमारे स्कीम के लिए बहुत ही जरूरी हैं इस पेस्ट में ग्लूटाथिओन भी दही और उस के माध्यम से आ जाता है जो चेहरे को बाहर से एक अच्छा और सुंदर स्किन प्रदान करने में सहायक होता है
Glutathione एक ऐसा एंजाइम्स है जो हमारे त्वचा की रंग को प्रभावित करता है अतः शरीर में इसी का स्तर ऊपर नीचे होता रहता है जब हम कोई आहार ग्रहण करते हैं या किसी अन्य एनवायरमेंट में चले जाते हैं कुछ लोग ग्लूटाथिओन के टेबलेट तथा इंजेक्शंस लेते हैं और यह सब प्रक्रिया एक डॉक्टर के निगरानी में करनी चाहिए और किसी भी सप्लीमेंट अगर आप स्क्रीन के लिए लेना चाह रहे हैं तो सबसे पहले स्किन डॉक्टर से मिलकर अपना स्क्रीन टेस्ट कराएं कि आपके स्कीम में किस-किस चीज की मात्रा कम है किस चीज की मात्रा ज्यादा है फिर उसके बाद ही कोई सप्लीमेंट ले क्योंकि हर सप्लीमेंट हर इंसान पर अलग-अलग प्रभाव डालते हैं


स्किन का रंग कभी डार्क कभी लाइट होता रहता है आइए जानते हैं
जब हम सूर्य की किरणों में अत्यधिक समय तक होते हैं तब हमारा शरीर सूर्य के हार्मफुल अल्ट्रावायलेट किरणों से बचाने के लिए शरीर में मेलेनिन को इनक्रीस करने लगता है और यह मेरेलीन की मात्रा सूर्य के हम फुल किरणों से हमें बचाते हैं तथा हमारे अंदर के ब्लड को सुरक्षित करते हैं यही मेलेनिन की मात्रा ज्यादा होने से शरीर का रंग डार्क हो जाता है फिर कुछ दिनों में यह नॉर्मल स्किन हो जाती है ।
जिनके स्कीम का रंग बहुत ही जल्दी प्रभावित हो जाता है वातावरण से वैसे लोगों को कभी भी ब्लड से रिलेटेड समस्या देखने को कम ही मिलती है और उन्हें ब्लड कैंसर होने के चांस बहुत ही कम होते हैं इसलिए जो भी आपके शरीर में नेचुरल कार्य हो रहा है वह आपके लिए ही होता है आप इस नेचुरल वर्क को ना छेड़े तो ही अच्छा है बाकी आगे आपकी मर्जी
अपने स्क्रीन का नेचुरल तरीके से केयर करने पर आप जैसा भी आपका कलर हो उसमें आप अट्रैक्टिव दिखने लगते हैं इसीलिए नेचुरल तरीके से अपने स्क्रीन का केयर करना भी अत्यंत आवश्यक है


हमारा लीवर बहुत ही ज्यादा उत्तरदायित्व होता है हमारे स्कीम के लिए अगर हमारा लीवर अच्छे से काम कर रहा है तो हमारा ब्लड अच्छे तरीके से पूरे शरीर में वितरित होता है जिसकी वजह से हमारी कोशिकाएं भी हेल्थी रहती हैं और हमारे त्वचा में एक चमक आती है 


कुछ टिप्स एंड ट्रिक्स जो आपके इस स्कीम के लिए अत्यंत आवश्यक है
  • अगर आप स्ट्रेस भरी लाइफ जी रहे है 8 घंटे की नींद ले सकते हैं या इससे अधिक और अगर स्ट्रेस आपकी लाइफ में नहीं है आप खुशहाल जिंदगी बिता रहे हैं तो 6 घंटे की नींद ही काफी है आपके स्कीम के हेल्थ विकास के लिए
  • रोजाना किसी भी प्रकार का एक्सरसाइज करना और जो स्ट्रेस से भरे जिंदगी जी रहे हैं उनके लिए योगा तथा प्राणायाम करना उनके स्कीम के लिए भी अच्छा है और उनके स्ट्रेस के लेवल को कम करता है स्ट्रेस की मात्रा ज्यादा होने से शरीर में कोशिकाओं तक एंजाइम्स अच्छे से नहीं पहुंच पाते जिससे शरीर की कोशिकाओं में विकार उत्पन्न हो जाता है
  • विटामिन सी को अपने खाने में शामिल करें जो आपकी प्रतिरोधक क्षमता के लिए भी अच्छा है और आपके स्क्रीन के लिए भी ।
  • आपके चेहरे की त्वचा आपके शरीर की त्वचा से काफी सेंसिटिव होता है इसीलिए इसका प्राकृतिक वस्तुओं से केयर करते रहें जैसा ऊपर बताया गया है
  • 15 मिनट रोजाना सूर्य का धूप अवश्य ले या आपके शरीर के अंदर की कार्यशैली को बढ़ाता है
  • खाने में फाइबर की मात्रा को बढ़ाएं या आपके स्कीम तथा ब्रेन के लिए अच्छा होता है
  • नारियल पानी का सेवन हफ्ते में एक बार या रोजाना भी कर सकते हैं या आपके शरीर में ब्लड का संचार अच्छे करता है जिसके परिणाम स्वरूप आपके स्कीम में चमक आती है
  • शुद्ध पानी का सेवन करें जो पानी हम पीते हैं वह पानी शुद्ध होना चाहिए इससे भी हमारे स्कीम कारण प्रभावित होता है बॉलीवुड के बहुत सारे हीरो हीरोइन ब्लैक वाटर पीते हैं जो बहुत ही महंगा होता है उन्हें भी पता है पानी पर सबसे ज्यादा डिपेंड होता है हमारे स्कीम क्योंकि शरीर में 70% पानी ही है इसलिए शुद्ध पानी पिए । 
  • शरीर में एंटीऑक्सीडेंट बढ़ाने वाले फल फ्रूट सब्जी को अपनी डाइट में शामिल करें एंटी ऑक्सीडेंट हमारे शरीर में हर विकार को खत्म करने का एक अलग ही प्रकार का गुण है
  • बाहर से आने के बाद तुरंत अपनी त्वचा को ना धोएं  उसे नार्मल टेंपरेचर पर आने दे फिर लगभग 15 मिनट बाद आपको नहाना हो या अपनी त्वचा को क्लीन करना हो कर सकते हैं ।
  • आशा करते हैं ऊपर दी गई जानकारियां आपके लिए लाभ प्राप्त होंगे और कोई सवाल आपके इस क्रीम से जुड़े हो तो या किसी और तरह का जानकारी आपको जानना है तो हमें कमेंट के माध्यम से बताएं हम आपको उससे जुड़ी जानकारी अवश्य प्रदान करेंगे धन्यवाद

Sunday, 17 October 2021

How to improve yourself। , आप अपने जीवन में कैसे अपने आप के व्यक्तित्व को निखार सकते हैं तथा अपनी कामयाबी तक पहुंच सकते हैं।

How to improve yourself। , आप अपने जीवन में कैसे अपने आप के व्यक्तित्व को निखार सकते हैं तथा अपनी कामयाबी तक पहुंच सकते हैं।

 हेलो दोस्तों आज हम बताएंगे आप अपने जीवन में कैसे अपने आप के व्यक्तित्व को निखार सकते हैं तथा अपनी कामयाबी  तक पहुंच सकते हैं ! 

किसी वस्तु को या किसी अन्य को प्राप्त कर लेने से कामयाबी  मिल गई ऐसा कहना उचित नहीं है मेरे हिसाब से कामयाबी वह सफर है जिस सफर पर चलते-चलते आप अपनी मंजिल तक पहुंचते हैं ।

अगर आप जीवन में आ रही उतार-चढ़ाव को अच्छे से मैनेज कर लेते हैं तो मेरी नजर में यह कहा जा सकता है कि आप कामयाब है !

कामयाबी का पहला रूल यही है कि आप स्वयं से प्यार करें और खुद से ज्यादा अहमियत किसी दूसरे को ना दें इसका मतलब यह नहीं कि आप घमंडी बन जाए किसी दूसरे व्यक्ति पर विश्वास करने से पहले अच्छे से उस व्यक्ति के बारे में जान लें अन्यथा बाद में दुख सिर्फ आपको ही होगा

सबसे पहले आप जज्बाती और इमोशंस में कोई भी फैसला ना लें चाहे वह अपने से संबंधित हो या दूसरे से कई लोग अपने जीवन के फैसले अपने कैरियर के फैसले जल्दबाजी में जज्बात और इमोशन के अधीन रहकर गलत निर्णय लेकर बैठ जाते है

अपने जीवन का कोई उद्देश्य बनाएं और उसे पूरा करने के लिए निरंतर प्रयास करें आपके जीवन में कई बार ऐसा लगेगा कि आप अकेले हैं आप अकेले इस काम को नहीं कर सकते लेकिन वही आपको हिम्मत न हारते हुए अपने लक्ष्य की तरफ आगे बढ़ना है

जीवन के सफर में बहुत से लोग आपके साथ जुड़ेंगे आपसे दूर होंगे सब आपके हित के लिए ही होता है कोई इंसान गलत नहीं और कोई इंसान सही नहीं सब अपनी अपनी जरूरतों के हिसाब से सही और गलत हो जाया करते हैं कोई इंसान अगर हमें अच्छा लगता है तो दूसरों को वह गलत लगता होगा इसीलिए लोगों को judgement करना हमारी सबसे बड़ी मूर्खता होगी हमेशा अपने आप को देखना चाहिए कि हम कैसे हैं हम क्या कर रहे हैं हम जो कर रहे हैं वह गलत है या सही है


आप अपनी योग्यता को पहचाने आप कौन से काम को अत्यधिक अच्छे ढंग से कर सकते हैं उसे पहचान पर उस पर ही कार्य करें अगर कुछ और समस्या की वजह से आप अपने सपनों को पूरा नहीं कर पा रहे हो तो सबसे पहले वह करें जो जरूरत हो फिर अपने सपनों पर भी विचार करते रहे कि आप उनको कैसे पूरा कर सकते हैं

दोस्तों सपने देखना बुरी बात नहीं होती बुरी बात होती है उन सपनों के लिए मेहनत ना करना केवल सपने देख कर ही खुश रहना यह आपकी सबसे बड़ी गलती है जीवन में कामयाबी की शुरुआत किसी भी मोड़ पर किया जा सकता है 

अपने जीवन को लेकर हमेशा सकारात्मक बने रहें क्योंकि यही सकारात्मक सोच आपकी ताकत है जिसकी वजह से आप अपने सपनों तक पहुंच जाओगे और कोई नहीं है जो आपको आपके सपने तक पहुंचा सकेगा 

कहीं सुना था कि जो लोग अपने ट्रेंड और ट्रेडिशनल को फॉलो करते हैं कामयाबी उन्हें फॉलो करती है पता नहीं यह कितना सत्य है लेकिन आप एक अच्छे व्यक्तित्व के रूप में समाज मे और अपनी नजरों में बने रहे इससे आपको अच्छाई की ताकत मिलेगी जो आपको आपके मंजिल तक पहुंचाने में बहुत कार्य करेगी 

लालच मोह माया के बंधन से बाहर निकल कर अपने सपनों की तरफ चलें अगर आपके अंदर लालच मोह माया नहीं है तो कोई भी इंसान आपको डायवर्ट नहीं कर सकता इंसान डाइवर्ट तभी होता है जब वह कोई इच्छा रखता है और उसे पूर्ण करने वाला दूसरा इंसान उसे मिल जाता है तो वह उस पर आसानी से विश्वास करके डाइवर्ट हो सकता है यहां तक की वह अपने सपनों से कोसों दूर चला जाएगा बहुत कम ही इंसान ऐसे होते हैं जो किसी दूसरे के सपनों को साकार करने के लिए मेहनत करते हैं बाकी सब टाइमपास और अपना काम निकालने के लिए किसी व्यक्ति से जुड़ते हैं !



दुनिया को कभी भी जज ना करें कि दुनिया ऐसी है या दुनिया वैसी है दुनिया में हजारों लोग हैं लाखों लोग हैं वह अपने अपने जीवन में अपने कैरेक्टर को जी रहे हैं उस दौरान अगर आपने दुनिया का जजमेंट किया तो आप दुनिया के मामले में गलत हो जाओगे क्योंकि आपको कामयाबी दुनिया से ही मिलेगी अगर दुनिया में बुरे लोग हैं तो अच्छे लोग भी हैं अब इसका ratio मत सोचने लगना की  इतने बुरे हैं और इतने अच्छे हैं आप बस आगे बढ़ो अपने सपनों की तरफ ऊपर वाले का आशीर्वाद हमेशा आपके साथ रहेगा और अच्छे कर्म करते चलो यह सब मिलकर आपको कामयाबी की तरफ लेकर चलेंगे

मन की शांति के लिए आप योगा प्राणायाम कर सकते हैं जिससे मन के सभी विकार दूर हो जाएंगे और आप अलग सकारात्मक सोच के साथ अपनी दुनिया मैं मस्त रहेंगे

जो किशोरा अवस्था के लोग होते हैं उनके सामने बहुत तरह की समस्याएं आ जाते हैं जैसे एक सही लाइफ पार्टनर और अपने लिए एक अच्छे भविष्य के लिए मेहनत करना और अपनी लाइफ को सेट करना और भी बहुत सारी चीजें हैं जो किशोरावस्था के लोगों को काफी हद तक प्रभावित करती हैं ऐसे किशोरावस्था के लोगों को हमेशा अपने सपनों की तरफ काम करना चाहिए और इस अवस्था में उन्हें सभी निर्णय फ्यूचर के बारे में सोच कर ही लेना चाहिए ।

आजकल बहुत सारे लड़के और लड़कियां प्यार में पड़ जाते हैं और अपनी सपनों से जो उन्होंने उस समय देखा था जब वह किसी के प्यार में नहीं थे उन्हें भूल जाते है इस तरह के लोगों को कोशिश करना चाहिए कि अगर उनका प्यार उन्हें मिल जाता है तो अच्छी बात है और अगर उनका प्यार उन्हें नहीं मिलता या प्यार में बेवफाई या मिलती हैं तो भी उन्हें यह सब को अपने दिमाग और दिल से निकाल कर अपने सपनों की तरफ आगे मेहनत करना चाहिए क्योंकि किसी के चले जाने का दुख सिर्फ हमें ही नुकसान करता है क्योंकि अगर दूसरे व्यक्ति को नुकसान या कोई फर्क पड़ता तो वह हमसे दूर जाता ही नहीं इसीलिए ध्यान रखें आपकी कामयाबी ही आपकी सबसे बड़ी जीत है और कामयाबी के लिए जरूरी है कि निरंतर आप अपने सपनों के लिए मेहनत करते रहें और खुश रहें

जीवन में एक समय ऐसा भी आता है जब ऐसा लगता है कि हम किसी लायक नहीं हैं और सब ने हमें सिर्फ मतलब के लिए रिश्ता रखा है तो आपको उस समय सकारात्मक सोचना है और यह तय करना है कि जो हुआ सो हुआ अब आगे आप अपने सपनों के लिए फिर से मेहनत करने के लिए खड़े होंगे कामयाबी अवश्य मिलती है ऊपर वाला हमेशा अच्छे लोगों की मदद करने के तत्पर होता है

आपके साथ अगर कुछ अच्छा होता है और या बुरा होता है इन दोनों के जिम्मेदार कोई दूसरा व्यक्ति नहीं होता स्वयं आप ही होते हैं आप ही हैं जो आप खुद को अपनी कामयाबी तक पहुंचा सकते हैं दूसरे लोग तो सिर्फ आप से मतलब रख कर आपका माइंड डाइवर्ट कर सकते हैं बाकी जो भी होगा वह आप ही करेंगे अपने जीवन में सही या गलत , निर्णय आपका है

आशा करते हैं कुछ बातें समझ आई होंगी और कुछ बातें आपको जीवन के द्वारा धीरे-धीरे समझ में आ जाएंगे यह जीवन धीरे-धीरे आपको इंसान इंसानियत और प्रकृति से रूबरू अवश्य करेगा 


अपने मन में सकारात्मक ऊर्जा के साथ अपने जीवन में आगे बढ़ते रहें जब कोई साथ ना दे तब ऊपर वाले पर भरोसा करके आगे चलते रहें कामयाबी अवश्य मिलेगी और जब ज्यादा अकेले आप हो गए हो तो आप अकेले में भगवान से बातें कर सकते हैं इससे थोड़ी मन की शांति भी मिलेगी और आपको पता भी चल जाएगा कि आपको करना क्या है जीवन में आशा करते हैं जानकारियां आप के लिए लाभप्रद है धन्यवाद ।



Saturday, 16 October 2021

Business, बिजनेस शुरू करने के लिए किस प्रकार के लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ती है आइए जानते हैं..

Business, बिजनेस शुरू करने के लिए किस प्रकार के लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ती है आइए जानते हैं..

 Business, बिजनेस शुरू करने के लिए किस प्रकार के लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ती है आइए जानते हैं...


आप किसी भी प्रकार के उद्योग अथवा बिजनेस को शुरू करने के लिए विभिन्न प्रकार के लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ती है जिनमें से प्रमुख हैं

  • Choose right set of business entity (Pvt,OPC.)
  • GST number required must.
  • MSME licence.
  • Trademark registration.
  • ISO certificate
  • Business plan
  • Shop and establishment licence on state to state.
  • Fire NOC and etc.

Choose right set of business entity (Pvt,OPC.)



सबसे पहले यह सुनिश्चित करें कि आप प्राइवेट लिमिटेड (PVT) या वन पर्सन कंपनी (OPC) खोलना चाहते हैं और यह सुनिश्चित होने के बाद प्राइवेट लिमिटेड रजिस्ट्रेशन या वन पर्सन कंपनी रजिस्ट्रेशन करवा ले प्राइवेट लिमिटेड के बहुत सारे डायरेक्टर्स और ओनर हो सकते हैं इसीलिए  बहुत सारे ऑनर्स को और डायरेक्टर्स चुनने के लिए प्राइवेट लिमिटेड रजिस्ट्रेशन होते हैं 

OPC का मतलब होता है वन पर्सन कंपनी मतलब अगर कोई व्यक्ति अकेले ही पूरी कंपनी को चलाना चाहता है तो उसके लिए ओपीसी बनाई गई है यह एक नई सुविधा आई है जिससे  किसी भी कंपनी का मालिक केवल एक व्यक्ति को सकता है 

अगर बात करें दोनों के राइट्स और अधिकार की तो दोनों कंपनियां बस रजिस्ट्रेशन अलग-अलग होते हैं बाकी सारे पावर एक समान होते हैं और दोनों कंपनियों में कामकाज को लेकर किसी भी प्रकार का कोई अंतर नहीं होता सिर्फ मालिक किसी में एक और किसी में एक से अधिक होते हैं !

प्राइवेट लिमिटेड में अगर मालिक किसी कारण बस नहीं रहा तो कंपनी नहीं बंद की जा सकती और कंपनी को आगे किसी और ऑनर को चुनकर कंपनी को चलाया जा सकता है लेकिन ओपीसी में अगर मालिक नहीं रहा तो कंपनी बंद हो जाती है और कंपनी का सारा काम रोका जा सकता है अगर ओबीसी का ऑनर किसी को नॉमिनी चुना है तो वह नॉमिनी ही अगला ऑनर बनता है बाकी किसी के अदर चुनाव से कोई इस कंपनी का मालिक नहीं बनता । और नॉमिनी द्वारा कार्यभार ओपीसी का संभालने के से ओबीसी और आगे भी चलाई जा सकती है

GST number required must.  कुछ छोटे उद्योग इस प्रकार होते हैं कि उस में जीएसटी का कोई मतलब ही नहीं बैठता लेकिन कुछ छोटे व्यवसाय ऐसे भी होते हैं जो बड़ी फॉर्म से जुड़ कर काम करते हैं उन्हें जीएसटी लेना अनिवार्य पड़ जाता है इसीलिए किसी भी प्रकार का बिजनेस करने से पूर्व आपको जीएसटी नंबर लेना और अत्यंत आवश्यक है ।

कंपनी के जो भी डायरेक्टर्स होते हैं उनके पास DIN नंबर होता है जिसकी मदद से वह कंपनी को मार्गदर्शन करते हैं तथा कंपनी के किसी भी एग्रीमेंट्स अथवा अदर कार्यों में DIN नंबर का प्रयोग करते हैं !

MSME licence : m s m e licence इसका मतलब होता है माइक्रो एंड स्मॉल मीडियम एंटरप्राइजेज 

MSME रजिस्ट्रेशन लेने के बाद आप किसी बड़े कंपनी की शुरुआत एक छोटे स्तर से कर सकते हैं इसके लिए आपको MSME लाइसेंस लेना है और GST नंबर और एक छोटे स्तर पर आप काम कर करके अगर आपको लगता है कि आपका बिजनेस काफी बड़ा हो रहा है तो उसे बाद में प्राइवेट लिमिटेड या ओपीसी में कन्वर्ट कर किया जा सकता है 

Trademark registration :  ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन मतलब अपनी कंपनी के नाम का रजिस्ट्रेशन , यह रजिस्ट्रेशन इसलिए लोग कराते हैं ताकि वह एक अपना ब्रांड बना सकें या वह जिस नाम से कंपनी चला रहे हैं उस नाम से कोई दूसरी कंपनी ना चला सके trademark registration आपकी कंपनी के नाम को गवर्नमेंट दस्तावेज में रजिस्टर कर लिया जाता है तथा कल अगर आपकी ही कंपनी का नाम कोई दूसरा व्यक्ति लेकर आपके प्रोडक्ट या सर्विस एस प्रदान कर रहा है तो आप उस पर एक्शन ले सकते है ट्रेडमार्क आपको एक यूनिट निस प्रदान करता है आपके सर्विस अथवा प्रोडक्ट में जिससे आपकी पहचान और ब्रांड बन जाती है !

ISO certificate : ISO का पूरा नाम  International Organization for Standardization होता है  यह आपको आपकी सर्विस से रिलेटेड या प्रोडक्ट से रिलेटेड एक स्टैंडर्ड प्रदान करता है जो यह साबित करता है कि जो भी चीजें आप सर्विस या प्रोडक्ट को दे रहे हैं वहां एक स्टैंडर्ड के थ्रू कस्टमर तक पहुंचाया जा रहा है और उस प्रोडक्ट अथवा सर्विस पर बहुत सारे कायदे कानून  द्वारा ध्यान दिया जा रहा है यह कस्टमर के मन में एक विश्वास बनाता है अगर आपके पास आईएसओ सर्टिफिकेट है तो आप इंटरनेशनल अपने प्रोडक्ट व सर्विस के एक पहचान करा सकते हैं और अपना बिजनेस इंटरनेशनल बढ़ा भी सकते हैं !

Business plan : बिजनेस को शुरू करने के लिए आपके पास सबसे अत्यधिक जरूरी है कि आपके पास बिजनेस का प्लान हो आप किस तरह का बिजनेस करना चाहते हैं और किस जगह पर करना चाहते हैं और किस तरीके से करना चाहते हैं आप उस बिजनेस के लिए कितना पैसा लगाना चाहते हैं और कहां से अपने प्रोडक्ट अथवा सर्विस को कस्टमर तक पहुंचाएंगे और भी बहुत सारी बातें आपको पहले से ही निश्चित कर लेनी चाहिए !


Shop and establishment licence on state to state : आप जिस जगह बिजनेस करना चाहते हैं उस जगह का लाइसेंस अथवा जिस जगह अपनी कंपनी खोलना चाहते हैं उस जगह का एग्रीमेंट और एक स्टेट से दूसरे स्टेट अगर आप सेवा प्रदान करते हैं तो स्टेट टू स्टेट सर्विस लाइसेंस आपके पास होना अनिवार्य है अब तो सिर्फ GST से ही स्टेट टू स्टेट सभी कार्य आसानी पूर्वक हो जाते हैं !

Fire NOC and etc ; और भी छोटे-छोटे रजिस्ट्रेशन जो आवश्यक होते हैं जैसे फायर एनओसी जिससे आपके ऑफिस अथवा फॉर्म में आग लगने पर उस आग को बुझाने के लिए आपने क्या-क्या सेफ्टी दे रखी है यह सिर्फ प्राइवेट लिमिटेड और OPC के लिए अनिवार्य होता है छोटे फॉर्म के लिए इतना सब अनिवार्य नहीं होता सिर्फ जीएसटी नंबर और एक छोटा सा रजिस्ट्रेशन आपके बिजनेस का बस आप अपने बिजनेस पर काम कर सकते हैं !

और कुछ तरह के चार्ज जो आपको बिजनेस रजिस्ट्रेशन में लगेंगे वह नीचे आप को प्रदर्शित किया जा रहा है


और भी बिजनेस से जुड़ी जानकारियां हम जल्द ही प्रदान करेंगे धन्यवाद !

Friday, 15 October 2021

Collagen, नेचुरल तरीकों से अपने शरीर में कोलेजन को बढ़ाने के तरीके..

Collagen, नेचुरल तरीकों से अपने शरीर में कोलेजन को बढ़ाने के तरीके..

Collagen, नेचुरल तरीकों से अपने शरीर में कोलेजन को बढ़ाने के तरीके..



Collagen का नाम आप लोगों ने सुना ही होगा Collagen एक प्रकार का प्रोटीन होता है जो हमारे शरीर में सबसे अधिक मात्रा में रहने वाला प्रोटीन है यह हमारे शरीर में त्वचा के लिए और बालों के लिए बहुत ही अत्यधिक भूमिका निभाता है उम्र के किसी भी पड़ाव में अधिक उम्र में दिखना तथा त्वचा में झुर्रियां झाइयां मेलेनिन का बनना इन सब का एक ही कारण होता है शरीर में Collagen का कम होना
Collagen की कमी होने से त्वचा में रूखापन त्वचा की झुर्रियां और बालों का झड़ना यह सभी चीजें Collagen की वजह से होता है जब इंसान धीरे-धीरे बड़ा होता है तो कॉलेजन की मात्रा घटने लगती है



 आजकल के खानपान में Collagen की मात्रा को और भी कम कर दिया है पुराने जमाने के लोगों में Collagen इतना ज्यादा होता था कि 50 के बाद ही उनकी बालों का झड़ना और स्कीम में झुर्रियां पड़ती थी तथा शरीर को स्वस्थ और सुंदर आकर्षक बनाने के लिए और शारीरिक विकास के लिए Collagen की मात्रा अत्यंत आवश्यक है जो शरीर में एक प्रोटीन होता है जो बहुत सारे प्रोटीन से मिलकर बनता है



Collagen का शरीर में होने के अद्भुत फायदे होते हैं 
  • शरीर का विकास अच्छी तरीके से होता है
  • शरीर की त्वचा में ढीलापन नहीं आता
  • शरीर की त्वचा हमेशा नमी बनी रहती है
  • बालों में मजबूती आती है
  • अधिक उम्र में भी आप जवान दिखते हैं
  • शरीर के बनावट को अट्रैक्टिव बनाता है
  • तनाव से मुक्त रखता है
  • हमारे हड्डियों और मांसपेशियों के लिए बहुत ही फायदेमंद है
और भी बहुत सारे बेनिफिट हैं जो हमें आंतरिक रूप से मजबूती और आकर्षक शारीरिक बनावट में मदद करते हैं



इतने सारे फायदे होने के बाद हम शरीर में Collagen की मात्रा कैसे बढ़ा सकते हैं आइए जानते हैं बहुत सारे ऐसे प्रोडक्ट आते हैं मार्केट में जो Collagen इन को बूस्ट करने का काम करते हैं और बहुत सारी ऐसी supplement है जिनका सेवन करके आप Collagen की मात्रा को बढ़ा सकते हैं
आप कोलेजन इन की मात्रा को बढ़ाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक चीजों का  उपयोग कर सकते हैं 
विटामिन C युक्त सभी फलों का सेवन करना चाहिए 
हरी सब्जी का सेवन करे ।



 
फलों में ऐसे फल जो लाल रंग के फलों में लाइकोपीन नाम का एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाता है जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक है जिससे कॉलेजन की मात्रा भी बढ़ती है इन लाल रंग के फलों में Collagen प्रोडक्शन तथा कोलेजन को बूस्ट करने का अलग ही गुण पाया जाता है इसलिए इनका सेवन भी करें तथा इनके अंदर जो लाइकोपीन एंटी ऑक्सीडेंट होता है यह सूरज की हार्मफुल किरणों से भी हमारे सहायता करते हैं 
आप गाजर का भी प्रयोग कर सकते हैं इसमें कॉलेजन को बूस्ट करने की क्षमता होती है ! 


ओजीवा का यह प्रोडक्ट collagen को बढ़ाने में मदद करता है और इस प्रोडक्ट को किसी भी उम्र के लोग आसानी से यूज कर सकते हैं चाहे वह किसी भी जेंडर के क्यों ना हो इसको सुबह और शाम प्रयोग करना है 
का प्रयोग करने से शरीर में Collagen की मात्रा बढ़ेगी और भी जानकारी हम जल्दी प्रदान करेंगे जो आपके Collagen की मात्रा को अच्छे से नियंत्रित करें और आपको एक स्वस्थ जीवन देने में मददगार हो ।