यूरिन इन्फेक्शन की आयुर्वेदिक दवा | यूटीआई से बचने के उपाय ...

 यूरिन इन्फेक्शन क्या है - 




यूरिन इन्फेक्शन को यूटीआई भी कहते हैं जिसका मतलब होता है यूरिन ट्रैक इंफेक्शन।
यानी कि जो हमारा यूरिन का मार्ग है जो कि किडनी से स्टार्ट होता है किडनी के बाद जो यूरिटल नलिया होती हैं और जो यूरिनरी ब्रेडल होता है और उसके बाद जो यूरिनरी वेसल होता है जिसके माध्यम से यूरिन बाहर निकलता है इस पूरे सिस्टम में जब कहीं पर भी इंफेक्शन हो जाता है तो उसको यूरिनरी ट्रैक इंफेक्शन बोलते हैं !

यूरिन इन्फेक्शन का कारण -


 दोस्तों ! आइए हम यहां थोड़ा सा यूरिन इंफेक्शन के कारण के बारे में भी जान लेते हैं अगर हम आयुर्वेदिक भाषा में कहें तो आमतौर पर जब यूरो यूरिनरी ट्रैक में ज्यादा गर्मी हो जाएगी क्योंकि हम अक्षर आमतौर पर देखते हैं कि यूरिन इन्फेक्शन में जलन की समस्या होती है दर्द की समस्या होती है इसीलिए आयुर्वेद में कहा जाता है कि यदि आपका पित्त ज्यादा बढ़ेगा तो आपको यूटीआई की समस्या हो सकती है !
इसीलिए पित्त वर्धक भोजन जैसे मिर्च मसालेदार खाना तला हुआ तला हुआ बहुत ज्यादा तीखा, खट्टा या चाय, कॉफी, अल्कोहल स्मोकिंग यह सब यूरिन इन्फेक्शन के कारण होते हैं और कुछ लोग कम पानी पीते हैं चाय पीते रहते हैं या कोल्डड्रिंक पीते हैं तो इन सब चीजों से उनको डिहाइड्रेशन हो जाता है जिससे यूरिनरी ट्रैक में इंफेक्शन हो जाता है किडनी में स्टोन हो तो उसके कारण भी यूटीआई की समस्या हो जाती है महिलाओं में वैजाइना इंफेक्शन आमतौर पर हो जाती है तो वह इन्फेक्शन यूरिनरी ट्रैक में चला जाता है और कई बारी यह सेक्सुअली ट्रांसमिशन से भी होते हैं ।
पुरुषों में प्रोस्टेट ग्लैंड जो होता है वह जब सूख जाए या बढ़ जाए उसके कारण पुरुषों को यूटीआई इंफेक्शन हो जाता है और सबसे महत्वपूर्ण चीज यह है कि कभी-कभार जो ज्यादा दवाइयां खा रहे होते हैं 12-13 गोलियां प्रायः रोज खाते हैं उसके कारण हीट बढ़ जाती है उनको यूटीआई होने के आशंका ज्यादा होती है।
महिलाओं में यूटीआई की समस्या ज्यादा क्यों होती है- 
महिलाओं को उल्टी होने क्या जो मुख्य कारण है वह यह है कि महिलाओं में जो यूरिनरी पैसेज जो होता है वह बहुत छोटा होता है जिसके कारण बहुत ही जल्दी कोई बाहर की चीज या बैक्टीरिया यूरिनरी ब्लैडर के साथ पहुंच जाता है !
और दूसरा मुख्य कारण यह है कि कभी-कभी महिलाएं जो ज्यादा हाइजीन नहीं रखती हैं खास करके जो ग्रामीण की महिलाएं हैं और उनके पास मरजानी बहुत ज्यादा जानकारी नहीं होती है इस चीज के बारे में और वह ज्यादा हाइजीन नहीं रहती हैं और साफ सफाई नहीं रख पाते जिसके कारण यूटीआई होने की समस्या ज्यादा रहती है

यूटीआई की समस्या से सबसे ज्यादा महिलाएं ग्रसित होती हैं जिनमें महिलाओं की संख्या 58% है और पुरुषों की 42 परसेंट है इसका मतलब यह है कि महिलाओं में यूटीआई की समस्या ज्यादा होती है !

यूटीआई से बचने के उपाय - 


यूटीआई की समस्या से बचने के लिए भरपूर मात्रा में पानी का सेवन करें 1 दिन में कम से कम 2 लीटर पानी जरूर पिएं गर्म चीजे ना खाएं जैसे कि चाय, कॉफी मसाले, मिर्च, खट्टी चीजों का सेवन थोड़ा कम करें नारियल पानी का सेवन करना यूटीआई में अच्छा होता है या किसी भी ऐसे लिक्विड का सेवन करें इसमें केमिकल की मात्रा कम होती है इससे आपकी पूरी यूटीआई सिस्टम स्वस्थ रहेगी।

यूरिन इन्फेक्शन के लिए आयुर्वेदिक उपाय - 


दोस्तों! यहां हम पतंजलि मैं मिलने वाले कुछ आयुर्वेदिक औषधियों के बारे में बात करेंगे जो कि यूरिन इन्फेक्शन में बहुत ही ज्यादा कारगर होती हैं !
जिनको भी यूरिन इन्फेक्शन से लेकर के बार-बार यूरिन होने की समस्या होती है उनके ऊपर पतंजलि में पाए जाने वाले आयुर्वेदिक औषधि दिव्य चंद्रप्रभा वटी और दिव्य गोक्षुरादि गुग्गुल के की दो - दो गोलियों का सेवन सुबह शाम करें इसके साथ-साथ गोखरू और गिलोय का सेवन करें।
गोखरू किसी भी प्रकार का इंफेक्शन यूरिन में जलन, इंफेक्शन है और यूरिन लिकेज, पथरी की बीमारी है मतलब की कितनी से रिलेटेड यूरिन से संबंधित जितनी भी समस्याएं होती हैं इन सभी के लिए रामबाण दवा है !



गिलोय किसी भी प्रकार के इंफेक्शन को या किसी भी प्रकार की जो कमजोरी होती है उसको दूर करके इम्यूनिटी को बढ़ा देता है गिलोय का इस्तेमाल डेंगू, स्वाइन फ्लू, चिकनगुनिया को भी दूर करने के लिए करते हैं। इस प्रकार से गिलोय का सेवन यूरिनरी ट्रैक में होने वाले किसी भी इंफेक्शन के लिए कारगर होता है।

यूटीआई से बचने के कुछ घरेलू नुक्से - 


घर में पाई जाने वाली कुछ ऐसी चीजें होती हैं जिनको खाने से आपको बार-बार होने वाली यूटीआई समस्याओं से आराम मिलता है जैसे कि- क्रैनबेरी जूस या दी मनोज पाउडर विद वॉटर, विटामिन सी या लहसुन कुछ ग्रीन टी तथा हर्बल टेबलेट आते हैं इनका सेवन करने से बार-बार यूटीआई की समस्या होने से बचा जा सकता है इसके अलावा यदि आपको शुगर है तो आप उस को कंट्रोल करें और आप बहुत ज्यादा मीठा ना खाएं।

Previous Post Next Post